VPF (Voluntary Provident Fund) क्या है ?

VPF :Voluntary Provident Fund

अगर आप नौकरी कर रहे है तो आप हर महीने आपकी सैलरी से पीएफ़(PF) मे योगदान कर रहे होंगे. जिसे ईपीएफ़ (EPF) के नाम से भी जाना जाता है.

क्या आप जानते है की आप पीएफ़ मे ज्यादा निवेश कर सकते है ?

हा आप  ईपीएफ़ से ज्यादा निवेश कर सकते है.जिसके बारे मे आज हम बताएँगे.

vpf

VPF (Voluntary Provident Fund) क्या है ?

ईपीएफ़ मे हमारी बेसिक सैलरी से 12 % का योगदान लिया जाता है .आप का एम्प्लोयेर आपका ईपीएफ़ का योगदान काट कर ही सैलरी पे करेगा.यही वह न्यूनतम योगदान है जो एक कर्मचारी कर सकता है.यदि आप अपनी बेसिक सैलेरी में से ईपीएफ में 12 फीसदी से ज्यादा निवेश करना चाहते हैं तो आप वीपीएफ के जरिए ऐसा कर सकते हैं.

वीपीएफ के जरिए ईपीएफ में 100 फीसदी तक बेसिक सैलेरी और महंगाई भत्ता, यदि कोई हो, भी निवेश करने की इजाजत होती है। फाएदे की बात यह है कि वीपीएफ राशि पर आपको ईपीएफ जितना ही ब्याज मिलेगा.

VPF-वीपीएफ का विकल्प कौन चुन सकता है?

कोई भी व्यक्ति  जो नौकरी करता है और जिसका अपना ईपीएफ खाता है वो वीपीएफ में निवेश कर सकता है।

एम्प्लोयर (कंपनी) का योगदान :

ईपीएफ में कर्मचारी और एम्प्लोयर रिटायरमेंट फंड में बराबर का योगदान देते हैं। जब की  एम्प्लोयर वीपीएफ के मामले में ऐसा करने के लिए बाध्य नहीं है। जैसा कि नाम से पता चलता है, यह एक स्वैच्छिक योगदान है जिसके लिए कर्मचारी खुद फैसला लेता है। इसके लिए आपको (कर्मचारी) अलग से अपनी कंपनी – एम्प्लोयेर को बताना होता है कि आप वीपीएफ में कितना निवेश करना चाहते हैं।

नहीं लगता किसी तरह का टैक्स :

ईपीएफ की तरह वीपीएफ में किया गया योगदान हर तरह से टैक्स फ्री होता है। यानी योगदान, मिलने वाले ब्याज और निकाले गए पैसे किसी पर कोई टैक्स नहीं लगता। यदि आप पुराना टैक्स सिस्टम चुनते हैं तो 80सी के तहत टैक्स छूट का क्लेम किया जा सकता है. अगर आप 5 साल के कार्यकाल के पूरा होने से पहले इसमें से पैसा निकालते हैं तो इस पर टैक्स लगेगा और आपके खाते में पैसे जमा होने से पहले इस तरह का टैक्स (टीडीएस) काट लिया जाएगा।

पैसा निकालना और बंध करना

आप आपके द्वारा किए गए सविंग मे से कुश पैसा लोन ले सकते है या पूरा पैसा भी निकाल सकते है। परंतु अगर 5 साल से पहले आपने ने पाइस निकाला तो आपको टेक्स लगेगा.

अगर आपने वीपीएफ़ मे पैसा सविंग करने का प्लानिंग किया तो आपको मिनिमम 5 साल के लिए योगदान देना रहेगा .आप कंपनी बदलते है तो आपका वीपीएफ़ भी नयी कंपनी के साथ जुड़ जाएगा। वीपीएफ़ UAN नंबर के साथ लिंक होता है.

  • EPFO पर बैलेन्स चेक करने के लिए 01122901406 पर मिस कॉल करे.
  • UAN रजिस्ट्रेशन के लिए ओर एक्टिव करने के लिए यहा क्लिक करे .

Most Useful Websites List के लिए यहा क्लिक करे

 

(Visited 70 times, 1 visits today)